×

जिन्दगी मौक़े बहुत कम देती हैं , और धोख़े ज्यादा । Written and Copyrighted by Agyāt Dharā