શબ્દોના પ્રેમમાં પડવાનો પ્રયાસ કરું છું.....

खुशिया कहा किसी को रास आती है,

दर्द लिखो तो सारी दुनिया दौड़ आती है ।।

जिंदगी अब शायद तूने रफ्तार पकड़ी है,
       बार बार चोटें जो आ रही है ।।।

न अल्फ़ाज़ हमे मुश्किल आते है,
न आरज़ू पे हमारी पर लगाते है,
हो गर किसीकी पलखो पे पानी,
तलातुम हम भी अश्को में पाते है ।।

और पढ़े