Yayawar जिसे कही आराम नहीं... जो बस भटकना जानता है अब ठेहेर ना सिख रहा है... लिखना सिख रहा है... उस्मे छिपी awargi को पेहचान के yayawargi बनके जीना सिख रहा है... for more follow me on insta... with name yayawar.gi

अगर आपको मेरी लिखी कहानी somewhat लव
धुनी
सचि का बस्ता
ऊटी
मोही ओर my 1st kiss

ये कहानीया अछि लगी हो तो एक नया सेगमेन्ट शुरू किया है जिसका नाम है मासी के जल पत्र

जिसमे बात है एक मासी कि उसके जल कि लिन्क दे रहि हु एक बार पढयेगा जरुर...


प्रेमपुर्न माँसी के जल पत्र

https://vicharvacha.in/માઁસી-ના-જલ-પત્ર/

और पढ़े
Yayawargi (Divangi Joshi) verified कोट्स पर पोस्ट किया गया English गीत
2 सप्ताह पहले

radio michi organise RJ hunt
i had qualified for 2nd round in which
we have to make video on topic "happiness in lockdown"

this is the 1st half of video for 2nd half click on below link...

-divangi joshi

https://www.instagram.com/p/CEmlxtJnvHV/?utm_source=ig_web_button_share_sheet

और पढ़े
epost thumb

"ऊटी ( साउथ गुजरात से साउथ इंडिया तक्)" by Yayawargi (Divangi Joshi) read free on Matrubharti
https://www.matrubharti.com/book/19894844/ooty-from-south-gujarat-to-south-india


ये शायद मेरी आखरी कहानी होगी मातृभारती पे क्योकी 10 से अधिक कहानी लिखने के लिए मेरा मातृभारती 21 रुपए का चढावा मांग रहा है

पता है 21 रुपे कोइ बडी रकम नही है... पर..

शायद 2018 जुलाइ से मेने लिखना शुरू किआ था, कारण सिर्फ़ एक क्योकी मुजे पसंद था ,
पता है मुजे गाना गाना,नाचना ओर अक्टीग करना भी पसंद था ओर है जिस्के लिए काफ़ी एप भी अवेलेबल है लेकिन कुछ समय के बाद मे बोर हो जाती वो चिज़े अपने आप छुट जाती लेकिन लिखना कभी नहि छुटा

2018 से पेहले भी लिखती थी लेकिन खुदके लिए आज भी खुद के लिए लिखती हु ओर लिखती रहुन्गी हमेशा.. शायद..!

मेरा समय, शक्ति जाती है पर मिलता सुकुन मेने आज तक कभी लाइक या फ़ोलोवर्स के लिए नही लिखा काफ़ी पेज है जिन्होने ओफ़र दिया के पेसे मिलेन्गे पर बाद मे मेरा ध्यान शायद शब्दो से हटके पेसो पे चला जाता

सुकुन ना रेहता...


शायद इसिलिए ये 21 रुपे का चढावा मुजसे नहि होगा...
मातृभारती से मुजे एक नया नाम ओर पेहचान मिली जिसका मे बोहोत आदर करती हु लेकिन

ये नही होगा...
तो फ़िर मुजे बताए मेरा ब्लोग केसा लगा?

और पढ़े

उम्र हि नही तजुर्बे मे भी बडे है आपसे,
जो सपना आप बुन रहे हो उस ख्वाब हो खाद-पानी डाल वटवृक्ष बना रखा है

-Yayawargi (Divangi Joshi)

और पढ़े
Yayawargi (Divangi Joshi) verified कोट्स पर पोस्ट किया गया English ब्लॉग
3 सप्ताह पहले

ooty south gujrat se south india...

कुछ पुराने ज़ख्म खुरेदे
थोडे पन्ने पलट कर

कही अच्छा नहीं लग रहा...
ना कोइ गाना भाता ना कोइ जगह
ना बारिश ना किरने ना ही बालो से खेलती हवा
लगे जेसे भिड मे अकेला अपने भी मेरे पराए,
दिनभर बस फोन ओर मे, काटती उंगलिया मिलो का सफ़र
हाफ़ती आंखे देख देख रास्ता, ओर वो भी पता नही किस्का...
बिते कल मे देखी कल कि सुरत मेरे आज से ना मिले
दुनिया जमाने से नही खुद से है हज़ारो गिले..
बस मुजे कही अच्छा नहीं लग रहा...
बचपन से ये रोग नही पता कम खतम होगा ये सोग
ना त्योहार के रंग ना उत्सव मे कोइ उमंग...

और पढ़े
Yayawargi (Divangi Joshi) verified कोट्स पर पोस्ट किया गया English कविता
4 सप्ताह पहले

hey guys...

I'm Divangi joshi
i tried something new please do like, share and comment

https://youtu.be/8K45McBE3QM


and subscribe me channel for this type of more videos

epost thumb

"साडी मे ना सिमटते संस्कार
भरी मांग ना आता विश्वास
मंगलसुत्र लदे ना होती वफ़ादारी
अजी छोडो एसी दुनियादारी"

@yayawargi

और पढ़े
Yayawargi (Divangi Joshi) verified कोट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी शायरी
2 महीना पहले

चाँदनी चाव से चातक सी चाहत बुने लेकिन,
चकोर कि चाह को चाँद चुने ?

@यायावरगी