हिंदी उपन्यास प्रकरण कहानियाँ मुफ्त में पढ़ेंंऔर PDF डाउनलोड करें

कालिदास के काम में सौंदर्य विधान
द्वारा Dr Mrs Lalit Kishori Sharma

डॉ ललित किशोरी शर्मा द्वारा रचित एवं डॉ अनिल प्रकाश शर्मा द्वारा संपादित कृति विमोचन के अवसर सही हाथों में रही सौंदर्य को परिभाषित करना बहुत ही कठिन कार्य ...

बैंगन - 22
द्वारा Prabodh Kumar Govil

वह ज़ोर से हंसा, पर और किसी को हंसी से नहीं आई। तब किसी ने कहा- तेरा जोक बेकार गया बे! वह खिसिया कर रह गया। उसने तो टीवी ...

छुट-पुट अफसाने - 25
द्वारा Veena Vij

एपिसोड---25 अतीत से जो नजरें मिलाईं, तो मुस्कुराहट भी मुस्कुराने लगी है। चलो जानेमन अतीत ! कुछ घड़ियां तुम्हारे साए में बिताते हैं आज। होता तो यही है कि ...

चाहत
द्वारा sajal singh

"ओ  रे पिया रे उड़ने लगा मन बावरा रे........." गाना म्यूजिक प्ले पर बज रहा है,और मैं  इस गाने पर ज़ूम -ज़ूम कर डांस कर रही हूँ | तभी ...

उस महल की सरगोशियाँ - 6
द्वारा Neelam Kulshreshtha

एपीसोड - 6 महारानी चिमणाबाई के भाषण से ही सन १९२७ में पूना में भारत के प्रथम स्त्रियों के संगठन अखिल भारतीय महिला परिषद का शुभारम्भ हुआ था. जिसके ...

इंसानियत - एक धर्म - 35
द्वारा राज कुमार कांदु

असलम का इशारा पाकर रजिया घर में चली गयी थी । असलम ने क्रोध से दहकते हुए बांगी साहब से मुखातिब होते हुए अपना कहना जारी रखा ” बांगी ...

बैंगन - 21
द्वारा Prabodh Kumar Govil

मुझे नींद के जोरदार झोंके आने के कारण मैंने पुजारी जी से चाय के लिए मना कर दिया और सीढ़ी यथास्थान लग जाने के बाद अब इत्मीनान से अपने ...

लेखिका का संक्षिप्त परिचय
द्वारा Dr Mrs Lalit Kishori Sharma

डॉ श्रीमती ललित किशोरी शर्मा भूतपूर्व प्राध्यापक शासकीय शिक्षा स्नातक उत्तर महाविद्यालय ग्वालियर मध्य प्रदेश आप m.a. संस्कृत साहित्य हिंदी साहित्य M.Ed साहित्य रत्न तथा पीएचडी की उपाधि से ...

छुट-पुट अफसाने - 24
द्वारा Veena Vij

एपिसोड---24 आत्मविभोर कर देता है कुछ घटनाओं का याद आना। हमारे पंजाब भ्रमण का अगला पड़ाव " लुधियाना" था। और पहली बार लुधियाना जाना मुझे रोमांचित कर रहा था ...

उस महल की सरगोशियाँ - 5
द्वारा Neelam Kulshreshtha

एपीसोड - 5 इस महल में इन्हीं कक्षों में माँ व दासियों को खिजाते दौड़ते होंगे नन्ही राजकुमारी व नन्हे राजकुमार के कदम। अपने प्रेम को अभिव्यक्त करने व ...

वो अनकही बातें - भाग - 2
द्वारा RACHNA ROY

शालू ने कहा चलों छोड़ो।समीर ने कहा मैंने तो सब कुछ छोड़ दिया था। शालू ने तुरंत जमाही लेने लगी और सोने का नाटक किया और कहा, मुझे नींद आ ...

बैंगन - 20
द्वारा Prabodh Kumar Govil

गहराती रात के साथ सन्नाटा बढ़ता गया पर न तांगा आया और न तन्मय। मेरा मन अब भीतर ही भीतर डरने सा लगा। आधी रात को मंदिर के वीरान ...

छुट-पुट अफसाने - 23
द्वारा Veena Vij

एपिसोड---23 अभी कल की ही बात है तो, कभी बरसों निकल गए।आपकी सोच और मनोवृत्तियां आपको दिशाएं दिखाती रहतीं हैं। उन की ओर बढ़ने हेतु मन को स्वस्थ तन ...

आभार
द्वारा Dr Mrs Lalit Kishori Sharma

सृष्टि में सौंदर्य का एक अनुपम एवं अद्वितीय स्थान है संस्कृत साहित्य में काव्य गुणों के शेट्टी की अनेक गुणों से संबंधित विषय सामग्री विपुल है संस्कृत के महान ...

मैं तो ओढ चुनरिया - 12
द्वारा Sneh Goswami

  मैं तो ओढ चुनरिया अध्याय 12     माँ ने हर खुली खिङकी और हर आधे खुले आधे भिङे दरवाजे को श्रद्धा और प्यार से देखा और दोनों ...

इंसानियत - एक धर्म - 34
द्वारा राज कुमार कांदु

अचानक खांसी आ जाने की वजह से असलम की बात अधूरी रह गयी थी । कुछ देर खांसने के बाद असलम थोड़ा सामान्य हो पाया था । उसकी आंखें ...

उस महल की सरगोशियाँ - 4
द्वारा Neelam Kulshreshtha

एपीसोड – 4 बहुत दिलचस्प रही थी सोने की तार जैसी महारानी से मुलाक़ात, ये जानना कि इस राजपरिवार को आज भी क्यों इतना सम्मान दिया जाता है। इन्होने ...

अ स्टोरी ऑफ़ लव - 4
द्वारा Kashish

बलविंदर - पुत्तर यही है अबीर । रोशनी की शादी में आया है।आगे.... शिवअनिया- मुझे लगा तूू   नई आयेगा । (अबीर  की और देखते हुए कहती  है।)अबीर - तुम्हेे  याद आ ...

विनाशकाले.. - भाग 3
द्वारा Rama Sharma Manavi

   तृतीय अध्याय---------------गतांक से आगे …..   अब जब रेवती ध्यान से इधर एक वर्ष की स्थिति पर गम्भीरता से विचार कर रही थी, तो उसकी निगाहों से पर्दा हट ...

बैंगन - 19
द्वारा Prabodh Kumar Govil

जैसे जैसे शाम गहराती जा रही थी मेरा मन डूबता जा रहा था। मुझे लग रहा था कि ऐसा न जाने क्या हुआ जो सुबह का गया हुआ तन्नू ...

अमलतास - एक अनदेखा रहस्य - 1
द्वारा R World

मांदी घाटी का इलाका जहाँ एक कहानी बहुत प्रचलित है । और वो कहानी अमलतास के पुष्प की है । ये कहानी एक ऐसी कहानी है के कुछ लोग ...

छुट-पुट अफसाने - 22
द्वारा Veena Vij

एपिसोड---22 दूसरी ओर रवि जी की बुआ जी का परिवार और उनके ज्येष्ठ दामाद श्री गोपाल देव कपूर जी( जिनके नाम से सांईदास स्कूल के साथ वाले मोहल्ले का ...

इंसानियत - एक धर्म - 33
द्वारा राज कुमार कांदु

” गलत कह रही है तू बदजात लड़की ! किसी इस्लामी जानकार ने उस क़ानून का इस्तकबाल नहीं किया । खुदा के कहर से डर नाफरमान लड़की ! तुझे ...

Premier Amour - 8
द्वारा akriti choubey

अभीरी ने खाना बनाया और एक सर्वेंट को खाना लेकर रूम में आने को कहकर वापस उसी रूम में चली गई,,,।अभीरी - चलो खाना रेडी है तुम लोग हाथ ...

उस महल की सरगोशियाँ - 3
द्वारा Neelam Kulshreshtha

एपीसोड - 3 उन महाराज ने अपने सपनों का नगर कुछ इस तरह बसाया कि आज तक उनकी रोपीं अच्छाइयां इस शहर में झलकतीं हैं। कभी ये राज्य ७००० ...

बैंगन - 18
द्वारा Prabodh Kumar Govil

मैं दोपहर बाद हड़बड़ा कर मंदिर में पहुंचा तो पुजारी जी कुछ भक्तों को प्रसाद देने में व्यस्त थे। मुझे देखते ही पुजारी जी, तन्मय के पिता आरती की ...

छुट-पुट अफसाने - 21
द्वारा Veena Vij

एपिसोड--21 ढेरों एपिसोड्स उमड़-घुमड़ कर बाहर निकलने की जद्दोजहद कर रहे हैं। लेकिन मैंने तो पंजाब-दर्शन आरम्भ किया है पिछली बार, तो हम पहले अमृतसर का चक्कर लगा लें, ...

उस महल की सरगोशियाँ - 2
द्वारा Neelam Kulshreshtha

एपीसोड – 2 ऐसा भी कभी सुना है जो कि महाराष्ट्र के मनमाड के पास के गाँव कवलाना में हुआ था ? इस गाँव में अचानक गायकवाड़ राज्य के ...

अन्‍गयारी आँधी - 15
द्वारा Ramnarayan Sungariya

--उपन्‍यास भाग—पन्‍द्रह अन्‍गयारी आँधी—१५                                                   ...

वो अनकही बातें - भाग - 1
द्वारा RACHNA ROY

सड़क के बीच में तेज बारिश में वो खड़ी हो कर ना जानें किसका इंतज़ार कर रही थी।बहुत सारे सवाल उठ रहे थे शालू के मन में। मुझे इस ...

बैंगन - 17
द्वारा Prabodh Kumar Govil

तो हुआ ये कि सब्ज़ी वाले की वो लड़की जिसके दहेज़ में तन्मय को तांगा पहले ही मिल गया था वो अचानक घर से भाग गई। उसी का नाम ...

छुट-पुट अफसाने - 20
द्वारा Veena Vij

एपिसोड--20 ना अंधेरी गलियों में गुम होती हैं ना पूर्णचंद्र के प्रकाश में स्नान कर धवल रूप धरती हैं । कृष्ण पक्ष हो या शुक्ल पक्ष विचारधाराएं तो चलती ...