हिंदी उपन्यास प्रकरण कहानियाँ मुफ्त में पढ़ेंंऔर PDF डाउनलोड करें

मार खा रोई नहीं - (भाग दस)
द्वारा Dr Ranjana Jaiswal

प्रधानाचार्य के असल रूप की बानगी कई बार देखने को मिली थी पर कहते हैं न कि जब तक अपने पैर बिवाई नहीं फटती तब तक बिवाई वाले पैरों ...

कालिदास के सौन्दर्य संबंधी तत्व
द्वारा Dr Mrs Lalit Kishori Sharma

                 कालिदास के सौन्दर्य संबंधी तत्व भारतीय प्रतिभा के ज्योतिर्मय नक्षत्र महाकवि कालिदास ने अपने तेजोमय प्रज्ञा के प्रकाश द्वारा न केवल इस ...

एहसास प्यार का खूबसूरत सा - 6
द्वारा ARUANDHATEE GARG मीठी

           एहसास प्यार का खूबसूरत सा ( भाग - 6 )कायरा ( खुद से ) - यार आरव इतना भी बुरा नहीं है जितना के ...

टापुओं पर पिकनिक - 8
द्वारा Prabodh Kumar Govil

सबका मूड बदल गया। कहां तो सब ये सोच कर आए थे कि एक रात मम्मी- पापा के संरक्षण और नियंत्रण से दूर दोस्तों के साथ फुल मस्ती करेंगे। ...

त्रिधा - 7
द्वारा Ayushi Singh

त्रिधा अपने हॉस्टल पहुंची तो देखा सभी लड़कियां अपने अपने घर जाने की तैयारियां कर रही थीं। अब इम्तेहान खत्म हो चुके थे तो कोई भी हॉस्टल में नहीं ...

मायावी सम्राट सूर्यसिंग - 2
द्वारा Vishnu Dabhi

     भाग :–2                   सूर्या थोड़े बड़े हो गए थे। उसको मालूम नहीं था कि उनके पास जादुई शक्तियां हैं।       ...

दैहिक चाहत - 7
द्वारा Ramnarayan Sungariya

उपन्‍यास भाग—७ दैहिक चाहत –७                                                 ...

मेरी मोहब्बत कौन...?(भाग 05)
द्वारा Swati Kumari

                 मेरी मोहब्बत कौन (भाग 05)वक़्त के साथ हरिओम धीरे-धीरे मेरे परिवार के करीब आता गया और मुझे ना तो इस बात ...

स्टेट बंक ऑफ़ इंडिया socialem(the socialization) - 3
द्वारा Nirav Vanshavalya

 जिस के उपले दो बटन खुले हुए हैं.  शर्ट का कॉलर  कोट  के कॉलर के ऊपर चढ़ा हुआ है.  और  फाल्कन अभी भी  वॉक्सवैगन को देख सकता है.  वोक्सवैगन की ...

कैसा ये इश्क़ है.... - (69)
द्वारा Apoorva Singh

शान वहां से पैदल ही आगे निकल जाते हैं।वही मालिनी अभिनव से संपर्क कहती है, सर टिया का गला ठीक नही है तो उसने स्पेशल परमिशन लेकर अजय जी ...

Limit of the Love - 3
द्वारा Bani P.

   चीफ : ऐसा लग रहा है कि अमेरिका में तुम काफी सेलिब्रिटीज को जानती हो या पर्सनली मिली हो। लेकीन हर  कोई ऐसा एरोगेंट नहीं होता ।  माया : ...

इश्क़ है तुमसे ही - 3
द्वारा Jaimini Brahmbhatt

(aage aapne padha dev shivangi ko call kar ke mafi magne ko kehta hai...shivangi aditi ko batati hai usne abhi tak call nahi kiya..ab page)मतलब,,तूने अभी तक उसे sorry ...

मार खा रोई नहीं - (भाग आठ)
द्वारा Dr Ranjana Jaiswal

प्रधानाचार्य के शांत चेहरे, हँसती हुई आँखों और आकर्षक व्यक्तित्त्व के पीछे एक कुरूप और बदसूरत शख्स था।उनके श्वेत कपड़ों के भीतर एक काला दिल था। उनकी संत जैसी ...

वो अनकही बातें - भाग - 11
द्वारा RACHNA ROY

पर तुने मन बदल दिया मेरी लाडो। और अब आगे।शालू ने कहा रानो बुआ मुझे क्या वापस अपने घर जाना चाहिए? बुआ बोलीं क्या तू समीर का सामना कर ...

छुट-पुट अफसाने - 50 - अंतिम भाग
द्वारा Veena Vij

एपिसोड---50 अक्सर बहुत कुछ ऐसा भी घटता है जीवन में, जो शेष रह कर भी अशेष ही रह जाता है। तब उस अधूरे के साथ ही जीवन लंगड़ी चाल ...

टापुओं पर पिकनिक - 7
द्वारा Prabodh Kumar Govil

साजिद की शक्ल देख कर पहले तो आगोश और सब दोस्तों ने समझा कि उसने शायद कोई बिल्ली कुत्ता या बंदर आदि देख लिया है और वह डर गया ...

दो आशिक़ अन्जाने - 8
द्वारा Satyadeep Trivedi

अर्जुन रात भर का सोया नहीं है। अलसायी आँखों से आसपास का मुआयना कर रहा है। कोई छोटा-मोटा क़स्बा है शायद। चिड़ियाँ चहचहाकर नए दिन की सूचना दे रही ...

मैं तो ओढ चुनरिया - 21
द्वारा Sneh Goswami

  मैं तो ओढ चुनरिया अध्याय इक्कीस     बीस दिन की अनथक मेहनत के बाद नींव बन कर तैयार हो गयी । उस दिन हमने घर आकर पैसों ...

मायावी सम्राट सूर्यसिंग - 1
द्वारा Vishnu Dabhi

आज का दिन जस्न का दिन था | क्योंकी सुल्ताना —ए—सूर्यगढ़ मित्रा ने एक सुंदर और आकर्षक पुत्र को जन्म दिया था| सुल्ताना मित्रा के पति धर्मदेव जी थे…  ...

एहसास प्यार का खूबसूरत सा - 5
द्वारा ARUANDHATEE GARG मीठी

           एहसास प्यार का खूबसूरत सा ( भाग - 5 )कायरा वैसे भी परेशान थी क्योंकि रास्ते भर उसे एक चुभने जैसी नज़र का पहरा ...

कैसा ये इश्क़ है.... - (68)
द्वारा Apoorva Singh

शान शोभा और शीला के सामने मुस्कुराने का अभिनय कर घर से निकल तो आते है लेकिन घर के बाहर आ कर उनके आंसू फिर छलक पड़ते हैं।जिन्हें पोंछ ...

टापुओं पर पिकनिक - 6
द्वारा Prabodh Kumar Govil

सब ने ख़ूब ठूंस- ठूंस कर खाना खाया। खाना स्वादिष्ट तो था ही, बहुत सारा भी था। और सब कुछ बच्चों का मनपसंद। स्कूल में रोज- रोज टिफिन ले ...

दैहिक चाहत - 6
द्वारा Ramnarayan Sungariya

उपन्‍यास भाग—६ दैहिक चाहत –६                                                 ...

मार खा रोई नहीं - (भाग सात)
द्वारा Dr Ranjana Jaiswal

मुझे नहीं पता था कि स्कूल जैसी पवित्र जगह पर भी जाति धर्म,क्षेत्र ,लिंग,उम्र ,सोर्स-सिफारिश के आधार पर भी निर्णय लिए जाते हैं।योग्यता,प्रतिभा,कार्यकुशलता पर ये चीजें भारी पड़ जाती ...

छुट-पुट अफसाने - 49
द्वारा Veena Vij

एपिसोड ---49 अतीत की स्मृतियों की कुछ ऐसी तरंगे भी हैं जो याद आने पर मेरे वर्तमान में फुर्ती भर देती हैं जिससे मेरा आत्मविश्वास जाग उठता है। कुछ ...

ये उन दिनों की बात है - 21
द्वारा Misha

टूर्नामेंट होने वाले थे | दौड़, रस्साकशी, ऊंची कूद, कबड्डी, खो-खो, और बास्केटबॉल | हर बार की तरह इस बार भी मैंने प्रतियोगिता में भाग लिया था | या ...

मेरी मोहब्बत कौन...?(भाग 04)
द्वारा Swati Kumari

              मेरी मोहब्बत कौन...?(भाग 04)बारिश लगभग बंद हो चूकी थी । हेमाश्रि झोपडी के बारह बैठी रो रही थी। हेमंत भी हेमाश्रि को ...

कैसा ये इश्क़ है.... - (67)
द्वारा Apoorva Singh

शान की आँखे भर आती है वो वहीं बैठ जाते है बस एकटक क्लिफ के एंड की ओर देखते है इसी उम्मीद से शायद उसकी पगली उसे आवाज दे।अर्पिता ...

इश्क़ है तुमसे ही - 2
द्वारा Jaimini Brahmbhatt

(first part jarur page☺️?)ये सब तेरी गलती से हुआ है अदिति कि बच्ची.., उसने अदिति को घुर के देखते हुए कहा...मैंने ....मैंने ....क्या किया इसमे?? शीीीवां ने कहा .तु... पहले ...

हारा हुआ आदमी (भाग 33)
द्वारा किशनलाल शर्मा

 देवेन ने प्रश्नसूचक नज़रो से पत्नी को देखा था।"अब हम दो नही   रहे।तुम बाप बन    चुके होो।ऐसी हरकत करोगे तो बेटे पर क्या असर पड़ेगा,"पति की पकड़ से  ...

त्रिधा - 6
द्वारा Ayushi Singh

* अगले दिन कॉलेज में * " त्रिधा " संध्या त्रिधा को देखते ही चिल्ला पड़ी जिसे देखकर त्रिधा के साथ कॉलेज आई माया समझ गई कि फिर कोई ...

मार खा रोई नहीं - (भाग छह)
द्वारा Dr Ranjana Jaiswal

सोचा न था ऐसा भी दिन आएगा मेरा साया भी मुझसे जुदा हो जाएगा। सचमुच उम्र के इस पड़ाव पर आकर ऐसा ही लगता है।दुनिया की छोड़ो अपनी देह ...