×

प्रेम कथाएँ ओनलाईन किताबें पढ़ें अथवा हमारी ऐप डाऊनलोड करें

    अनजान रीश्ता - 11
    by Heena katariya
    • (8)
    • 173

    अविनाश और रोहन पूरा दिन मूवी देखने के बाद खाना ऑर्डर करते हैं अविनाश का मुड़ पहले से काफ़ी बेह्तर था लेकिन फ़िर भी वह पारुल का ख़्याल अपने ...

    आधूरा प्रेम
    by Suresh Maurya
    • (2)
    • 77

    मेरे प्रिय पाठकों मैं सुरेश कुमार मौर्य आप सभी का इस कहानी में  स्वागत करता हूं ‍। यह आधूरा प्रेम नामक किस्सा एक मनघडन कहानी है इसे मैने अपने ...

    जंग-ए-जिंदगी - 6
    by radha
    • (0)
    • 16

    जंग-ए-जिंदगी-6जिस महाराजा का पुत्र महाराजा  बनने वाला है वो राजकुमार।उसकी मासा को जननी कहा जाता है जननी की सास को राजमाता कहा जाता है यानी महाराजा की मासा को ...

    मिट्टी के सनम
    by Khan Ishrat Parvez
    • (0)
    • 61

    चाहता तो नही था, पर तुम पीछे ही पड़ गए हो तो, बताना ही पड़ेगा कि प्यार के नाम से चिढ़ सी क्यों हो गयी है। जानते हो, जब ...

    वैश्या वृतांत - 7
    by Yashvant Kothari
    • (8)
    • 307

    स्त्री प्रजाति के खत्म होने का खतरा ष् क्या एक दिन संपूर्ण विश्व से स्त्री प्रजाति के खत्म हो जाने का खतरा शुरू हो जायेगा क्या भारत में स्त्रियों ...

    कहानी का अन्त
    by Amita Joshi
    • (5)
    • 90

    राजेश अभी दो महीने पहले ही एक छोटे कस्बे में बतौर बैंक मैनेजर आया था।नई जगह में अभी ठीक से रहने खाने-पीने की व्यवस्था भी नहीं हो पाई थी। ...

    ऎसा प्यार कहाँ️️ - अंतिम भाग ️️️️
    by Uma Vaishnav
    • (12)
    • 123

    ऎसा प्यार कहाँ   (अंतिम भाग)❤️❤️प्रिय पाठकों,      आपने अब तक पढ़ा, प्रज्ञा और नील में गहरी दोस्ती हो जाती है, वो एक - दूसरे से अपनी हर बातें ...

    लालिमा
    by Sarvesh Saxena
    • (5)
    • 131

    "अपने आप को कभी शीशे में देखा है? कैसी दिखती हो? तुम्हें चाहना तो दूर तुम्हें तो कोई घर में भी ना रखें, मुझसे कोई उम्मीद करना छोड़ दो ...

    पहला एस एम एस - 4
    by Lakshmi Narayan Panna
    • (2)
    • 219

    भाग-4धीर ने राज को सही नम्बर नही बताया । न जाने किस लिए ? राज सोंचने लगा कहीं वह उसके और जेनी के सम्बंध में कुछ शक तो नही ...

    ऑरकुट
    by devendra kushwaha
    • (4)
    • 90

    वर्ष 2004 से पहले सोशल मीडिया का नामोनिशान तक नहीं था। किसी ने सोंचा भी नही होगा कि कुछ ही सालों में हमारे कंप्यूटर से हम पूरी दुनिया कही ...

    अनजान रीश्ता - 10
    by Heena katariya
    • (10)
    • 229

    सेम पारुल के घर से जाने के बाद अपने रूम मैं बैठे बैठे सोचता हैं की क्या से क्या हो गया और पागलो की तरह मुस्कुरा रहा था तभी ...

    जंग-ए-जिंदगी - 5
    by radha
    • (4)
    • 39

    जंग-ए-जिंदगी-5 राजमहल में चहल पहल होने लगी राजकुमारी दिशा राजमहल से भाग गई। उसने अपना एक परिवार बनाया।अपना नाम डाकुरानी रख लिया है। उसके साथ मंत्री जगजीत सिंह है। ...

    वैश्या वृतांत - 6
    by Yashvant Kothari
    • (10)
    • 470

    कुंवारियों  की दुनिया       पिछले कुछ वर्षों में महानगरों तथा अन्य शहरों में कुंवारी काम काजी महिलाओं का एक नया वर्ग विकसित होकर सामने आया है । वैसे ...

    सज़ा
    by Sarvesh Saxena
    • (9)
    • 126

    आज कोर्ट में केस की आखिरी सुनवाई है, आज अदालत अपना अंतिम निर्णय सुनाएगी कि क्या होगा, मिस्टर वेद को सजा-ए-मौत मिलेगी या जिंदगी कोई नहीं जानता, खुद वेद ...

    अनजान रीश्ता - 9
    by Heena katariya
    • (24)
    • 411

    पारुल और सेम लंच ब्रेक के बाद दो लेक्चर अटेन्ड करते हैं जैसे ही पारुल अपनी स्कूटी स्टार्ट करने वाली होती है सेम उससे कहता हैं की आज वह ...