इश्क़ आख़िरी - 8 Harshali द्वारा प्रेम कथाएँ में हिंदी पीडीएफ

इश्क़ आख़िरी - 8

एक काम करते है दीदी , हम दोनो पीछे बैठ जाते है अमृता को आगे बैठने देते है । भाई के साथ ! अरे नहीं तू आकाश के साथ आगे बैठेगा और मैं और सोनाली पीछे बैठेंगे सोनाली ने मानव से कहा । लेकिन दीदी क्यों मानव ने सवाल करते हुए कहा । देख मुझ पर भरोसा रख , ये एक प्लान है , सोनाली ने एक शरारती स्माइल के साथ कहा । ।




तभी आकाश वहा कार लेकर आ जाता है , सोनाली पीछे वाली सीट पर बैठ जाती है और मानव आगे वाले सीट पर बैठ जाता है , मानव सोनाली को इशारे करता है , अब क्या ? वॉट टू डू नेक्स्ट ? तभी आकाश बोलता है मानव तू पीछे बैठ जा । लेकिन क्यों हमेशा तो मैं बैठता हूं ना आगे ! तो इस बार भी में ही बैठूंगा , मुझे पीछे क्यों भेज रहे हो ? मानव ने एक्टिंग करते हुए कहा । अमृता को मेरे साथ आगे बैठने दो ,वो उसको बनारस घूमना है ना ! आकाश ने बात बनाते हुए कहा । हा भाई उसको बनारस देखना है तो उसका आगे बैठने के साथ क्या कनेक्शन है ? हां एक्सेक्टली सोनाली ने भी मानव के बात मैं हां भरते हुए कहा । वो... वो आगे से अमृता को और अच्छे से बनारस देखने को मिलेगा ना इसलिए आकाश ने जो मन में आया वो कह दिया । ये क्या लॉजिक है भला ! कुछ भी हा भाई , मानव ने आकाश से कहा। तभी वहा अमृता आ जाती है , अमृता ने पिंक कलर का ड्रेस पहना होता है उसपर नेट का दुपट्टा आंखों में काजल, हल्की सी लिपस्टिक, खुले बाल और हमेशा की तरह बलों की कुछ लेट उसके गालों पर थी, कानों मैं बड़े झुमके , गले में चोटीसी पर अट्रैक्टिव चैन , इस सब के साथ को किसी प्रिंसेस से कम नही लग रही थी । और दूसरी तरफ हमारे आकाश की नजर अमृता से हट ही नहीं रही थी । कौन कहता है की मॉडर्न कपड़ो मैं ही लड़कियां अच्छी लगती है , ये आउटफिट तो मॉडर्न कपड़ो को भी पीछे छोड़ जाए , आकाश ने मन मैं ही कहा । अमृता पीछे वाली सीट पर जैसे ही बैठने वाली थी मानव ने कहा , अमृता तुम आगे बैठ जाओ मैं और दीदी पीछे बैठ जाते है । लेकिन क्यों तुम आगे बैठे हो ना ! मैं दी के साथ पीछे बैठ जाऊंगी अमृता ने कहा । अरे नही भाई के लॉजिक के अकॉर्डिंग तुम्हे बनारस आगे से बहुत अच्छे से देखने को मिलेगा मानव ने आकाश की और शरारती नजरों से देखते हुए कहा । हां वो भी बराबर है , अमृता ने कहा और आकाश के साथ उसके बाजू वाली सीट पर बैठ गई । सीटबेल्ट लगाओ आकाश ने अमृता से कहा । तभी मानव ने सोनाली से धीमी आवाज में कहा , दीदी अब वो फिल्मों जैसा सीन देखने को मिलेगा ना ? हीरोइन को सीटबेल्ट लगाना नहीं आता तो हीरो उसके पास जाकर उसको सीटबेल्ट लगा देता है और फिर वो दोनों एक दूसरे की आंखो में खो जाते है । क्या खुसुर पुसुर कर रहे हो तुम दोनों ? आकाश ने सोनाली और मानव से पूंछा । ये क्या अमृता तुमने सीटबेल्ट लगा दिया ? तुमने ..तुमने खुद लगाया ? मानव ने अमृता से पूंछा । हां मैंने ही लगाया है क्यों क्या हुआ ? अमृता ने सवाल करते हुए कहा । तभी बात को संभालते हुए सोनाली ने कहा , अरे कुछ नहीं अमृता तुझे तो पता है ना मानव कैसा है , कुछ भी बोलता है ,तुम बाहर का नजारा देखो हम आकाश पर नजर रखते है , सोनाली ने धीमी आवाज में कहा ।

क्या दीदी हाउ अनरोमेंटिक ! मुझे तो लगा था की अब यह रोमेंटिक सीन देखने को मिलेगा पर यहां तो ... मानव ने सोनाली से कहा । आकाश बार बार अमृता की तरफ देख रहा था , ये देखकर मानव ने धीमी आवाज में आकाश को बोला , भाई आगे देख कर ड्राइव करिए ना ! साइड में क्या देख रहे हो ! क्या आपने भी अमृता की तरह पहली बार बनारस देखा है ? मानव ने छेड़ते हुए आकाश से कहा । फिर आकाश ने अपने आंखों पर गॉगल लगा लिया और ड्राइव करने लगा। वाह! बनारस तो बहुत ही अच्छा है , कितना कुछ है यह देखने के लिए अमृता ने कहा । तभी अमृता की नजरे आकाश पर चली गई , अरे तुमने ये गॉगल क्यों पहना है ? अमृता ने सवाल करते हुए कहा । अरे इस के पीछे भी भाई का अपना ही कुछ लॉजिक होगा मानव ने हंसते हुए अमृता से कहा । कुछ लॉजिक नहीं है , मैने तो बस यू हीं गॉगल पहने है आकाश ने घूरते हुए मानव से कहा । देखते ही देखते आकाश का ऑफिस आ जाता है । अमृता तुम हमारे ऑफिस क्यूं नहीं चलती , इसी बहाने सभी से जान पहचान भी हो जायेगी और तुम ऑफिस भी देख लोगी आकाश ने अमृता से कहा । हां मुझे अच्छा लगता लेकिन आज नहीं, आज तुम्हारी एक मीटिंग है ना ! और आज हम बनारस देखने के लिए भी जा रहे है तो फिर कभी ऑफिस देखें आऊंगी ,सॉरी ! अमृता ने आकाश से कहा। अरे नही नही तुम क्यों सॉरी बोल रही हो , इट्स ओके, तुम फिर कभी आ जाना ऑफिस , आकाश ने एक स्माइल के साथ अमृता से कहा । ये सभी कन्वर्सेशन पीछे बैठे सोनाली और मानव अपने दोनों हाथ अपने गालों पर रख कर सुन रहे है थे। बाय अमृता आकाश ने अमृता से सॉफ्ट टोन मैं कहा । हमको तो कभी इतने सॉफ्ट टोन मैं बाय नहीं किया सोनाली ने मानव के कान में कहा । बाय भाई , बाय आकाश अमृता के बोलने से पहले ही मानव और सोनाली बोल पड़े । आकाश ने गुस्से से उन दोनों को घूरा और गाड़ी से नीचे उतरने लगा । ऑल द बेस्ट फॉर योर मीटिंग बाय , अमृता ने भी कहा , तभी आकाश के चेहरे पर एक चार्मिंग सी स्माइल आ जाती है । और वो ऑफिस के लिए निकल जाता है ।

मानव आगे आकर ड्राइव करने लगता है । आकाश उस जाती हुई कार को तब तक देखते रहता है जब तक की वो उसकी आंखों से ओझल नहीं हो जाती , कार में बैठी हुई अमृता कार के साइड मिरर से खड़े हुए आकाश को देख रही थी उसके चेहरे पर अनजाने में एक मुस्कान आ जाती है ।



रेट व् टिपण्णी करें

Bijal Patel

Bijal Patel 2 महीना पहले

Preeti G

Preeti G 4 महीना पहले