इश्क़ आख़िरी - 7 Harshali द्वारा प्रेम कथाएँ में हिंदी पीडीएफ

इश्क़ आख़िरी - 7

अमृता प्लीज ये काम कोई और कर देगा तुम मत करो , तुम्हे मदत करनी ही है तो मां की करो किचन में ! आकाश इतने प्यार से और सॉफ्ट टोन मैं बोल रहा था की अमृता उसके बात को टाल नहीं सकी और वो किचन में चली गई । अमृता के जाने के बाद आकाश भी अपने रूम की और चलने लगा ।




दूर खड़े मानव और सोनाली ये सब देख रहे थे , और एक दूसरे की तरफ देख कर स्माइल कर रहे थे । तभी वहा आकाश आ जाता है , तुम दोनों ऐसे स्माइल क्यों कर रहे हो ? आकाश ने सोनाली और मानव से सवाल करते हुए कहा । वो ज्यादा इंपोर्टेंट नही है भाई , शायद आप कुछ भूल रहे हो आज हमारी इंपोर्टेंट मीटिंग है , आप काम के पेपर्स तैयार करने के बजाए अमृता के साथ फूलों की माला तैयार करने बैठ गए !!! मानव ने नाटक करते हुए कहा । हां वो अमृता नीचे अकेली काम कर रही थी तो मैंने सोचा की क्यों न उसकी थोड़ी हेल्प कर दू, इसलिए .. बाय द वे चलो हमे जाना है देर हो रही है , आकाश ने फोन मैं देखते हुए मानव से कहा । भाई वो आज दीदी अमृता को बनारस घुमाने वाली है , तो ..तो मैं भी जाऊं उनके साथ ? प्लीज भाई माना मत करना जाने दो ना प्लीज़, मानव ने आकाश से रिक्वेस्ट करते हुए कहा । ठीक है तुम जा सकते हो लेकिन बस आज के दिन , कल से बेक टू द वर्क ओके ! इतना कहकर आकाश वहा से चला जाता है । चलो ये बात तो अच्छी हुई की आकाश ने तुझे हमारे साथ आने की परमीशन दे दी, अब हम तीनों मिलकर बहुत एंजॉय करेंगे सोनाली ने बड़े खुश हो कर मानव से कहा ।

किचन में अमृता राधा का ब्रेकफास्ट बनाने में हाथ बटा रही थी , बेटा अब बस बहुत मदत कर ली , अब बाहर जा के बैठो मैं ब्रेकफास्ट लेकर आती हूं राधा ने अमृता से कहा । ठीक है आंटी , बोलकर अमृता किचन से बाहर आ जाती है और टेबल पर बैठ जाती है । तभी वहा मानव और सोनाली भी आते है । तुम रेडी हो ना हमे बनारस देखने के लिए निकलना है अभी कुछ देर में , मानव ने अमृता से पूंछा । नहीं मुझे चेंज करना है , में चेंज करके आती हूं , अमृता ने उठते हुए कहा । अरे अरे अभी मत चेंज करना ब्रेकफास्ट होने के बाद चेंज करना, सोनाली ने अमृता से कहा । तभी दादा दादी और गोविंद भी ब्रेकफास्ट करने के लिए आ जाते है । गुड मॉर्निंग बच्चो दादा जी और गोविंद ने सोनाली मानव और अमृता से कहा । गुड मॉर्निंग उन तीनों ने भी कहा । तभी राधा सबके लिए ब्रेकफास्ट ले कर आती है , अरे ये आकाश किधर है राधा ने सबको ब्रेकफास्ट देते हुए कहा । भाई तो ऑफिस निकल गए होंगे , आज एक इंपोर्टेंट मीटिंग है , और जब मीटिंग होती है तब भाई जल्दी जाते है ना ऑफिस और ब्रेकफास्ट ऑफिस में ही करते है मानव ने ब्रेकफास्ट करते हुए कहा । लेकिन आकाश तो ऑफिस गया ही नहीं, वो देखो मानव आकाश आ रहा है , अमृता ने आकाश की और इशारा करते हुए कहा । सभी की नजरे आकाश की और चली गई , आकाश आया और अमृता के सामने वाली कुर्सी पे आके बैठ गया । क्या हुआ ? आप सभी मुझे ऐसा क्यों घूर रहे है जैसे में पहली बार .... आकाश ने अपनी बात पूरी भी नही की थी तभी उसके बात को काटते हुए मानव बोल पड़ा हां भाई पहली बार ...पहली बार आप मीटिंग होने के बावजूद घर पर ब्रेकफास्ट कर रहे है ? और मीटिंग वो तो ९:०० बजे थी ना ? और आप तो ऑफिस निकल चुके थे ? वापस क्यों आए ? मानव सवाल पे सवाल किए जा रहा था । और सभी घर वाले मानव और आकाश को देख रहे थे । मीटिंग मैंने एक घंटा पोस्टपोंड कर दी वो एक फाइल घर पर ही रहे गई थी , तो मैं लेने आ गया और कुछ सवाल आपको पूछने है मानव जी ? आकाश ने मानव से कहा । नही नहीं भाई मतलब आपको फाइल चाहिए ही थी तो आप मुझ से बोल देते मैं लेकर आ जाता वो फाइल , वैसे भी दीदी में और अमृता हमारे ऑफिस वाले रोड से ही जाने वाले है मानव ने आकाश को शरारती अंदाज से कहा । सवाल पे सवाल करने है ना तो ऑफिस चल वहा तुझे सारे डिटेल मैं आंसर दूंगा आकाश ने मानव से कहा । नहीं नहीं भाई मुझे नहीं जानना कुछ भी आप फाइल लेना और चले जाना ऑफिस , मानव ने कहा ।

सभी ब्रेकफास्ट करने लगे , खाते खाते आकाश की नज़र फिर एक बार अमृता पर जा कर रुक गई , उसकी बालों की वो एक लट फिर से उसके गालों को चूम रही थी , ये जब भी मैं इसको ऐसे देखता हूं मैं डिस्ट्रैक्ट क्यों हो जाता हूं ! आकाश ने मन में ही सोचा । ये सब बाजू में बैठे सोनाली और मानव देख रहे थे , वो एक नजर आकाश और अमृता की और देखते और फिर एक दूसरे की तरफ देख कर स्माइल करते। देखते ही देखते सबने अपना ब्रेकफास्ट कर लिया । में चेंज करके आती हूं , अमृता ने कहा और वहा से अपने रूम में चली गई ।

में फाइल ले के आता हूं बोलकर आकाश भी ऊपर चला जाता है , और फाइल ले कर नीचे आ जाता है । में गाड़ी निकालता हूं, हम सब साथ ही चलते है , अमृता तुझे और दीदी को में छोड़ देता हूं , ऑफिस वाले रोड से ही जाने वाले हो ना , आकाश ने मानव से कहा । ठीक है , मानव और सोनाली ने सहमति दिखाते हुए कहा । आकाश के बाहर जाने के बाद ही वहा अमृता आ जाती है । अमृता को आते हुए देख कर मानव और सोनाली बाहर चले जाते है । तुम बाहर आना अमृता, हम बाहर है भाई के कार से जाने वाले है हम !मानव ने बाहर जाते हुए कहा ।


एक काम करते है दीदी , हम दोनो पीछे बैठ जाते है अमृता को आगे बैठने देते है । भाई के साथ !

रेट व् टिपण्णी करें

Bijal Patel

Bijal Patel 2 महीना पहले

Preeti G

Preeti G 4 महीना पहले