डिटेक्टिव विक्रम - 2 - खाना चोर VIKAS BHANTI द्वारा जासूसी कहानी में हिंदी पीडीएफ

डिटेक्टिव विक्रम - 2 - खाना चोर

VIKAS BHANTI मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी जासूसी कहानी

""क्या डिटेक्टिव विक्रम यहीं रहते हैं ।" बाहर से आई इस आवाज़ पर हाथ में पकड़ी गोलियों से विक्रम ने मुट्ठी भीन्च ली । "कौन है?" विक्रम ने आवाज़ दी । "जी मैं अशोक सैमसन । दरवाज़ा खोलियेगा ज़रा, ...और पढ़े