निश्छल आत्मा की प्रेम-पिपासा... - 11 Anandvardhan Ojha द्वारा उपन्यास प्रकरण में हिंदी पीडीएफ

निश्छल आत्मा की प्रेम-पिपासा... - 11

Anandvardhan Ojha द्वारा हिंदी उपन्यास प्रकरण

कानपुर-प्रवास के जोड़ीदार--शाही और ईश्वर आगे की कथा कहने के लिए थोड़ी भूमिका अपेक्षित है। लेकिन आप यह न समझें, मैं कोई अवांतर कथा कहने लगा हूँ। जिनका उल्लेख कर रहा हूँ, वे सभी आगे चलकर इस परलोक चर्चा ...और पढ़े