હુ ખુદ ની જ ખોજ માં છુ

बदनाम करने लगे थे लोग जिस नाम से मुझे...
कसम् खुदा कि मेने कभी उसे जी भरके देखा हि नहीं..

Bhumi Polara बाइट्स पर पोस्ट किया गया ગુજરાતી सुविचार
3 सप्ताह पहले

લોકો સામે હસતા રેવુ અે કળ। પણ કયા બધા પાસે હોય છે
બાકિ નસીબ થી હારેલા માણસો જીંદગી ના સાચા બાજીગર હોય છે
bhumi patel

और पढ़े

ये खमोशिया भि न जाने कितना शोर करती ही
जीते हुये इन्सान को भि
जीते जी मार देती हे..

Bhumi Polara बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी कविता
1 महीना पहले

रंग जो चढ़ा तेरे इश्क़ का..
न चडेगा अब दूजा रंग..
कोइ फ़किर कि हु फ़किरि
मीरा कि भक्ति का त्याग हु
प्रित हु राधा कि लगन कि
और रुक्शमणि सा भि सम्मान हु
bhumi patel

और पढ़े
Bhumi Polara बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी शायरी
2 महीना पहले

सुरत फ़िर भि सुरत हे
मुझे तो तुम्हारे नाम के
लोग भि अच्छे लगते हे

Bhumi Polara बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी कविता
2 महीना पहले

ये टूटे दिल वालों कि मेह्फ़िल हे जनाब..
फ़िर क्यु यहाँ दिल जोड़ने के जज्ज़बात रखते हो
कोइ बताओ उसे कि दुर रहे वो रहे हमसे
क्यु जीने कि उम्र मे ज़ेर कि चाह रखते हे
bhumi patel

और पढ़े
Bhumi Polara बाइट्स पर पोस्ट किया गया ગુજરાતી कविता
2 महीना पहले

ઘાવ ગમે તેવો ઉંડો હોય પણ
સમય સાથે ભરાય જતો હોય છે
પણ આ નિશાન બાકી રહિ જાય એનું શુ???
bhumi patel

Bhumi Polara बाइट्स पर पोस्ट किया गया ગુજરાતી कविता
3 महीना पहले

ન જાણે કેમ હવે આ અેકલતા ગમવા લાગી છે
મનમાં ઉઠેલી દરેક આશ શમવા લાગી છે
ખુશ રહૂ છુ હુ આજકાલ પોતાના મા જ
કેમ કે હવે કાગળ અને કલમ જોડે રમવા લાગી છૂ...
bhumi patel

और पढ़े
Bhumi Polara बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी ब्लॉग
4 महीना पहले

अब तक किसिने समझा हि नहि
हम क्या हे क्यु बताये किसिको
अजमाकर देख लेना किसी दिन
टूटे हुये मिलेंगे पर गिरे हुये कभी नहीं!
bhumi patel

और पढ़े
Bhumi Polara बाइट्स पर पोस्ट किया गया ગુજરાતી कविता
4 महीना पहले

કોઈ આવીને પુછી ગયુ કે ધરતી(ભુમી)
હુ તારો વરસાદ બનવા માંગૂ છુ,,
ધરતી યે પણ જવાબ આપી જ દીધો કે
મારે વરસાદ ની જરુર છે"ઝ।પટા" નહિ..
"Don't take a personally please""
Bhumi patel

और पढ़े