Hey, I am reading on Matrubharti!

दोनों जी रहे हैं
मजबूरीयो के साथ...
वो करीब तो हैं
मगर दुरीयो के साथ...
bhavna

तुम जिदंगी का वो
खुबसूरत ख्वाब हो...
जो देखते देखते
जिदंगी कट जाएगी...
bhavna

खामोशी से रहना
मिजाज है मेरा
आप इसे
गुरुर मत
समझना...
bhavna

जो सामने जिक्र
नहीं करते
वो अंदर ही अंदर
बहुत फिक्र
करते हैं ।
good night
bhavna Parmar

सोचती हूँ के
अब ना सोचूं
कुछ भी ।
bhavna Parmar

रात निकली है
घर से अपने
बाटेगी अब
घर घर सपने..
bhavna

ये कैसी उम्मीद ने
मुझे घेरा है
वो मेरा नहीं
फिर भी मेरा है ।
bhavna Parmar

मेरी रातें मुझे
अक्सर
सुलाना भुल
जाती है।
bhavna Parmar

बहुत कुछ कहना है
मुझे
बीन कहें
तुम्हे।
bhavna Parmar

ये दोस्ती भी ऐक रिश्ता है ।
जो निभा दे वो फरिश्ता है ।
happy friendship
..day..
bhavna parmar