मेरी इबादतों को ऐसे कर कबूल ऐ मेरे खुदा, के सजदे में मैं झुकूं तो मुझसे जुड़े हर रिश्ते की जिंदगी संवर जाए........ ..खान@

Abbas khan बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी शायरी
11 घंटा पहले

बहुत ढूँढा उसे, बहुत आवाजें लगाई,
पर वो पलट कर नही आया क्या करता,
बचपन था न,
नही आ पाया।,,,,@
#ભૂતકાળ

Abbas khan बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी शायरी
1 दिन पहले

भले ही किसी गैर की जागीर थीं

वो,
पर मेरे ख्वाबों की भी तस्वीर थीं

वो,
मुझे मिलती तो कैसे मिलती,
किसी और की हिस्से की तक़दीर

थीं वो|,,@
#ચિત્ર

और पढ़े
Abbas khan बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी प्रेरक
2 दिन पहले

घर से निकलने पर “गोली” मारने का ऑर्डर भी हो जाए…

तब भी कुछ महान लोग..



.


ये देखने के लिए बाहर निकलेंगे की….
“गोली” मार भी रहे है कि ऐसे ही माहौल बना रखा है !

और पढ़े
epost thumb
Abbas khan बाइट्स पर पोस्ट किया गया ગુજરાતી शायरी
1 सप्ताह पहले

તને જોઈને હૃદયમાં ઉદ્દભવેલો ઝંકાર સાચવી રાખ્યો છે મેં,
ન લખાયેલા કેટલાયે શબ્દોનો ભાર સાચવી રાખ્યો છે મેં

ક્યારેક તો તું પાછી ફરીશ એ રાહમાં ને રાહમાં,
હૃદયના ખૂણામાં તારા નામનો ધબકાર સાચવી રાખ્યો છે મેં

બંધ થઈ ગયા છે જે ઘરના બારણાં હમેશા માટે,
ક્યારેક ત્યાંથી જ મળેલો મીઠો આવકાર સાચવી રાખ્યો છે મેં

‘મજબૂરી’ના બહાના પાછળ જે નિભાવી ન શકાયો,
આજીવન સાથે રહેવાનો એ કરાર સાચવી રાખ્યો છે મેં

એકબીજાના સુખ-દુઃખમાં હવે સાથે નથી,ચાલ માન્યું
પણ તારી માટે ચિંતા કરવાનો અધિકાર સાચવી રાખ્યો છે મેં

વર્ષો સુધી જીવ્યા પછીયે સમજાયો નથી જે ઘણાને,
નાની જિંદગીનો બહુ મોટો ‘ટુંકસાર’ સાચવી રાખ્યો છે મેં

और पढ़े
Abbas khan बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी शायरी
1 सप्ताह पहले

तेरे सजदों में मैं हूँ ..मेरी दुआओं में
तुम..
फासले भी हैरान हैं ..नजदीकियां
देखकर।,,,,@

Abbas khan बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी शायरी
1 सप्ताह पहले

हर सपना ख़ुशी पाने से पूरा नही होता,
कोई किसी के बिना अधूरा नही होता,


जो चाँद रोशन करता है रात भर सब को,
हर रात वो भी तो पूरा नही होता है…@,

और पढ़े
Abbas khan बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी शायरी
2 सप्ताह पहले

हर एक पहलू तेरा मेरे दिल में
आबाद हो जाये,
तुझे मैं इस क़दर देखूं मुझे तू
याद हो जाये...।।@
#પાસું

Abbas khan बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी शायरी
2 सप्ताह पहले

हर रोज चुपके से निकल आते है
नए
                    पत्ते,
यादों के दरख्तों  में मैने कभी
पतझड़
                नही देखा।,,,@

और पढ़े
Abbas khan बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी शायरी
2 सप्ताह पहले

एक लहर तेरे ख़्यालों की,
मेरे वजूद को भिगो जाती हैं,
एक बूंद तेरी याद की,
मुझे इश़्क के दरिया में डुबो जाती
हैं..@

और पढ़े
Abbas khan बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी शायरी
2 सप्ताह पहले

जब भी उनकी गली से गुजरते हैं,
मेरी आँखें एक दस्तक
दे देती हैं,

दुःख ये नहीं वो दरवाजा बंद कर
लेते हैं,
खुशी ये है वो मुझे पहचान लेते
हैं।...@
#આનંદ

और पढ़े