Vani - Shabdo ni shodh ma

Anita Gor कोट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी कविता
4 महीना पहले

क्या है ये पंछी
जो खूले आसमान में उड़ता है वो या फिर जो पिंजरे में बंद है।
जो उड़ रहा है वो थक चुका है और जो पिंजरे में बंद हैं वो उड़ाना चाहता है।
उड़ते पंछी को दुनिया बहोट बड़ी लग रही है और पिंजरे वाले पंछी की तो दुनियां ही बहोत छोटी है।
उड़ता पंछी कितना सुंदर लगता है और पिंजरे में बंद पंछी भी अच्छा ही लगता है।
पर एक दिन उड़ते पंछी के पर कट जाते है और पिंजरे वाले पंछी का पिंजरा खुल जाता है।
एक मायूस हो जाता है और दुसरा उड़ना सीखता है।
एक दिन वो दोनो पंछी मिलते है
आपस में बात करते है और दोस्त बनते है
और यही दोस्ती उन्हें जीना सिखाती है।।

और पढ़े
Anita Gor कोट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी ब्लॉग
8 महीना पहले

चाहे हम मिले ना मिले, चाहे हम पास रहे ना रहे, रहेंगे एक दूसरे के साथ हमेशा, थामे हाथो में हाथ।।
_वानी_ शब्दों की खोज में

और पढ़े
Anita Gor कोट्स पर पोस्ट किया गया English ब्लॉग
8 महीना पहले

खुशनसीब है वो लोग जो ख़ुद के सपनों को जीते है, वरना खूली आंखों से सपनों को टूटते हमने देखा है।।।
_ वानी_ शब्दों की खोज में

और पढ़े
Anita Gor कोट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी ब्लॉग
8 महीना पहले

हम कभी जुदा हो नही सकते, क्यूकी तू मुझ में बसा है और में तुझ में।।
_वानी _शब्दों की खोज में

Anita Gor कोट्स पर पोस्ट किया गया English शायरी
8 महीना पहले

जीने का शोख रखते थे कभी हम, नजाने आज क्यू मरने को दिल करता है, खुद को कभी तलाशा नहीं था, पर आज जब ख़ुद को तलाशा तो बेइंतेहा प्यार पाया तुम्हारे लिए।।
_वानी_ शब्दों की खोज में

और पढ़े
Anita Gor कोट्स पर पोस्ट किया गया English ब्लॉग
11 महीना पहले

तेरी बाहों में ख़ुद को युह महफूज़ पाया कि भूल गई में के मेरा भी कोई वजूद है। @ वानी _ शब्दों की खोज में

Anita Gor कोट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी ब्लॉग
11 महीना पहले

थक गए हूं जिंदगी जीते जीते, चाहतीं हूं कुछ पल सुकून के मिले, पर लगता है यही के, उसके लिए तो आंखे बंद करनी पड़ेगी हमेशा के लिए।।
@ वानी _ शब्दों की खोज में

और पढ़े
Anita Gor कोट्स पर पोस्ट किया गया English ब्लॉग
11 महीना पहले

आज किसी ने मेरी रूह को छुआ और फिर से ख़ुद के पूरे होने का ऐहसास हुआ।।
# वानी _ शब्दों की खोज में

Anita Gor कोट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी शायरी
12 महीना पहले

मत करो मुझसे इतनी उम्मीदें,
की में पूरी ना कर पाऊ।
दर्द अगर तुम्हे हुआ,
तो आंसू निकलेंगे मेरी आंखों से।।

और पढ़े
Anita Gor कोट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी शायरी
1 साल पहले

प्यार का ये कैसा इम्तेहान है मेरा
प्यार तो बेपनाह है आपसे पर
प्यार कर भी नहीं शकती ओर
प्यार किए बिना रह भी नहीं शकती।

- वानी - शब्दों की खोज में

और पढ़े