नमस्ते मेरा नाम आशीष कुमार त्रिवेदी है। मैं कहानियां, लघुकथाएं, बालकथाएं एवं लेख लिखता हूँ। जो लोग कठिनाइयों से घबराते नहीं हैं तथा हर परिस्थिति में उनसे उबरने का प्रयास करते हैं उनकी सच्ची प्रेरणादाई कहानियां लिखता हूँ। Matrubharati पर धारावाहिक रूप में प्रकाशित मेरे उपन्यास पाठकों द्वारा बहुत पसंद किए गए हैं। पौराणिक चरित्रों उर्वशी और पुरुरवा पर लिखा गया मेरा उपन्यास वनिका पब्लिकेशन द्वारा प्रकाशित हुआ है। Matrubharti द्वारा दिल्ली के प्रगति मैदान में Reader's choice award दिया गया है

कुछ ही घंटों में समय का वह पड़ाव आएगा जहाँ 2020 विदा लेगा और हमारी बागडोर 2021 को सौंप देगा। वैसे तो बीता हुआ साल कोरोना की कड़वाहट लेकर आया था पर उस कड़वाहट के बीच भी मेरे पाठकों ने मुझ पर अपने मधुर स्नेह की वर्षा की। लेखन के हिसाब से मेरे लिए 2020 बहुत अच्छा रहा।
अब 2021 में भी मुझे पूरा विश्वास है कि आप लोगों का प्यार मेरे साथ रहेगा। जो मुझे नया लिखने को प्रेरित करता रहेगा।
आने वाला साल मेरे पाठकों और इस मंच पर सक्रिय सह लेखकों के लिए मंगलमय हो यही मेरी ईश्वर से प्रार्थना है।
🙏
🌹🌹🌹🌹🌹🌹

और पढ़े
Ashish Kumar Trivedi verified कोट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी समाचार
2 महीना पहले

Matrubharti पर आप लोगों का दिल जीतने वाला मेरा उपन्यास हिमाद्रि अब Matrubharti Publication द्वारा Paperback में प्रकाशित किया गया है। यह विक्रय के लिए Amazon पर उपलब्ध है। निम्न लिंक पर ऑर्डर कर सकते हैं
https://www.amazon.in/dp/8194153514/ref=cm_sw_r_wa_apa_fabc_7PtWFbBF0MHDM

और पढ़े

पढ़ें मेरा उपन्यास स्टॉकर 👇

https://www.matrubharti.com/novels/9401/stalker-by-ashish-kumar-trivedi

epost thumb
Ashish Kumar Trivedi verified कोट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी समाचार
6 महीना पहले

रहस्य और रोमांच से भरी मेरा उपन्यास हिमाद्री का 3D कवर पेज।
https://www.matrubharti.com/novels/8587/himadri-by-ashish-kumar-trivedi

Ashish Kumar Trivedi verified कोट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी समाचार
8 महीना पहले

मई 2020 के अंतिम सप्ताह में सबसे अधिक Downloads पाने वाले लेखकों में मेरा प्रथम स्थान है।
पाठकों का धन्यवाद

एक गलतफहमी के कारण आदित्य और नैना अलग हो गए। लेकिन यह अलगाव भी उनके प्यार को कम नहीं कर सका। इसीलिए जब आदित्य को नैना के अचानक गायब हो जाने का पता चला तो उससे रहा नहीं गया। नैना को तलाश करने के लिए अपना काम छोड़ वह पुलिस की मदद के लिए आगे आया।
क्या वह नैना को तलाश कर पाया ?
जानने के लिए पढ़ें मेरा उपन्यास
कहाँ गईं तुम नैना....
निम्न लिंक पर पढ़ें 👇
https://www.matrubharti.com/novels/6168/kahan-gai-tum-naina-by-ashish-kumar-trived

और पढ़े

वृंदा का प्यार रईस घर में जन्मे जयदेव टंडन को ले आया कर्म पथ पर..….
1942 के भारत छोड़ो आंदोलन से आरंभ हुई इस कहानी में जहाँ एक ओर स्वराज का सपना है तो दूसरी ओर समाज निर्माण की परिकल्पना।
Matrubharti.com पर अब तक की कड़ियों को 8K Downloads मिले हैं। इस धारावाहिक उपन्यास का प्रकाशन अभी जारी है।
निम्न लिंक पर पढ़ें 👇
https://www.matrubharti.com/novels/14630/karm-path-par-by-ashish-kumar-trivedi

और पढ़े